उत्तर प्रदेश श्रम सहायता योजना 2018 – घर के लिए 1 लाख और बेटी की शादी के लिए 1.4 लाख

Uttar Pradesh Labour Assistance Scheme – उत्तर प्रदेश राज्य सरकार श्रमिकों को आवास इकाई के निर्माण के लिए 1 लाख रुपए के साथ देगी साथ ही उनके बच्चों की उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए 60,000 रुपये की सहायता भी प्रदान करेगी यह सुविधा हर उस मजदुर को प्राप्त होगी जो श्रम विभाग (http://uplabour.gov.in) के तहत पंजीकृत होगा। यह जानकारी उत्तर प्रदेश सरकार के श्रम और रोजगार मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने दी। अब तक उत्तर प्रदेश में 41 लाख श्रमिकों की पह्चन की गई है।

Uttar Pradesh Labour Assistance Scheme

योगी सरकार श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों के परिवार की पूर्ण देखभाल भी करेगी। यूपीए सरकार श्रमिकों के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए 60,000 रुपये का मुहैया करायेगी और गंभीर बीमारियों से पीड़ित रोगियों की पूरी लागत का भार उठाया जाएगा। मजदूरों के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए यूपीए सरकार 60 हजार रुपए की एकमुश्त रकम देगी।


Rs. 3,000 for Treatment Under Uttar Pradesh Labour Assistance Scheme

उत्तर प्रदेश श्रम सहायता योजना के अंतर्गत उपचार के लिए 3,000 रुपये

उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों को एक आवास इकाई के निर्माण के लिए 1 लाख रुपये देगी, वहीं पंजीकृत मजदूरों के चिकित्सा उपचार के लिए सरकार अपने खाते में 3 हजार रुपये प्रतिवर्ष प्रदान करेगी।


Rs. 60,000 for Higher Education of Children Under Uttar Pradesh Labour Assistance Scheme

उत्तर प्रदेश श्रम सहायता योजना के तहत बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए 60,000 रुपये

उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए 60 हजार रुपये की एकमुश्त सहायता प्रदान करेगी। यह सहायता संत रवीदास शिक्षा योजना के तहत राज्य सरकार की ओर से दी जाएगी। इससे मजदूरों के बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

अंग्रेजी में पढ़ें 


Rs. 55,000 for Daughter’s Wedding Under Uttar Pradesh Labour Assistance Scheme

उत्तर प्रदेश श्रम सहायता योजना के अंतर्गत बेटी विवाह के लिए 55,000 रुपये

यूपीए सरकार श्रम विभाग के तहत पंजीकृत 41 लाख श्रमिकों की बेटियों की शादी के लिए 55 हजार रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। सरकार सीधे बेटी की शादी के लिए 55,000 रुपये देगी जो शादी कर रही हैं।


बेटी के जन्म पर 25,000 रूपये और बेटे के जन्म पर 12,000 की सहायता

उत्तर प्रदेश सरकार पंजीकृत कामगारों की पहली बेटी के जन्म के लिए 25 हजार रुपए प्रदान करेगी, जबकि मजदूर के घर की दूसरी बेटी को 15 हजार रुपए की वित्तीय सहायता दी जाएगी। सरकार मजदूर के बेटे को 12 हजार रूपए की वित्तीय सहायता देगी। ये वित्तीय सहायता निश्चित जमा राशि के रूप में दी जाएगी।


श्रम विभाग में पंजीकरण प्रक्रिया

श्रम विभाग में पंजीकरण करने के लिए, मजदूर स्वयं श्रम विभाग की वेबसाइट (http://uplabour.gov.in) पर जाकर पंजीकरण कर सकते हैं। वेबसाइट पर ऑनलाइन पंजीकरण और नवीनीकरण विकल्प पर क्लिक करके श्रमिकों खुद को पंजीकृत करें। जिले में संचालित जनसेवा केंद्रों पर जाकर कार्यकर्ता पंजीकरण कर पाएंगे। सरकारी योजनाओं के लाभ केवल पंजीकृत मजदूरों के लिए उपलब्ध हैं।


 

3 comments

Leave a Reply