उत्तर प्रदेश हेलीकॉप्टर शैर योजना – 2500 रूपये में 15 मिनट हेलीकॉप्टर की सवारी

Uttar Pradesh Helicopter Se Sair Yojana – महत्वाकांक्षी ‘हेलीकॉप्टर शैर योजना‘ को शुरु करने के लिए, पर्यटन विभाग ने उत्तर प्रदेश में 5 आधुनिक हेलीपोर्ट बनाने की योजना तैयार की है। अधिकारियों के मुताबिक, सभी हेलीपोर्ट दिसंबर तक लगभग तैयार हो जाएँगे। 25 करोड़ रूपये की लागत से प्रत्येक हेलीपोर्ट पांच एकड़ का होगा। इतना ही नहीं, हेलीकॉप्टरों की सवारी के लिए छह कंपनियों का भी चयन किया गया है।

Uttar Pradesh Helicopter Se Sair Yojana

उत्तर प्रदेश हेलीकॉप्टर शैर योजना

कुंभ की शुरुआत से पहले ‘हेलीकॉप्टर शैर योजना’ योजना को शुरू करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए, विभाग लखनऊ, वाराणसी, मथुरा, इलाहाबाद और आगरा में हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने जा रहा है। पांच हेलीपोर्टों के निर्माण की तैयारी शुरू हो गई है। इलाहाबाद में काम शुरू हो गया है। हेलीकॉप्टर इन शहरों की ऐतिहासिक विरासत का दौरा करेंगे।

Uttar Pradesh Helicopter Se Sair Yojana

आकाश से कुंभ मेले की सवारी

पहली बार, लोगों को कुंभ को हेलीकॉप्टरों के माध्यम से आसमान से देखने का मौका मिलेगा। इसके लिए इलाहाबाद में अक्टूबर तक हेलीपोर्ट तैयार होगा। हेलीकॉप्टरों की संख्या में वृद्धि और सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने और हेलीकॉप्टरों की संख्या में वृद्धि पर भी बढ़ती बहस हुई है।

Uttar Pradesh Shadi Vivah Protsahan Yojana | Apply | www.uphwd.gov.in

Uttar Pradesh Helicopter Se Sair Yojana

उत्तर प्रदेश हेलीकॉप्टर शैर योजना -चयनित कंपनियां

  • चार्टर्ड विमान सेवाएं
  • इंडो स्काई एविएशन प्राइवेट लिमिटेड
  • आर्यन विमानन
  • एयरबोर्न एविएशन अकादमी
  • चिप्सन एविएशन प्राइवेट लिमिटेड
  • सतत स्मार्ट समाधान प्राइवेट लिमिटेड

15 मिनट हेलीकॉप्टर सवारी 2500 रूपये में

हेलीकॉप्टर शैर योजना के तहत, राज्य सरकार लोगों को 15 मिनट की हेलीकॉप्टर सवारी प्रदान करेगी। ये हेलीकॉप्टर सवारी राज्य की ऐतिहासिक विरासत में उपलब्ध कराई जाएगी। सवारी का समय 15 मिनट होगा और इस सवारी के लिए चार्ज 2500 रूपये होगा।

आकाश से कुंभ मेले की सवारी

पहली बार, लोगों को कुंभ को हेलीकॉप्टरों के माध्यम से आसमान से देखने का मौका मिलेगा। इसके लिए इलाहाबाद में अक्टूबर तक हेलीपोर्ट तैयार होगा। हेलीकॉप्टरों की संख्या में वृद्धि और सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने और हेलीकॉप्टरों की संख्या में वृद्धि पर भी बढ़ती बहस हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *