सिक्किम एक परिवार एक नौकरी योजना – बेरोजगार लोगों हेतु सरकारी नौकरियां

एक परिवार एक नौकरी योजना सिक्किम:  सिक्किम की राज्य सरकार ने राज्य के लोगो के लिए  एक योजना की शुरुआत की है राज्य सरकार ने इस योजना को एक परिवार एक नौकरी योजना के नाम से नामाँकित किया है इस योजना को शुरू करना का कारण ये है की सरकार हिमालयी राज्य के लोगों की वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित कर सके | सिक्किम के मुख्यमंत्री श्री पवन कुमार चामलिंग ने बताया की नीति का निर्णय दिसम्बर 2018 तक पत्र और व्यवहार में प्रभावी होगा। एक परिवार एक नौकरी योजना के अंतर्गत सरकार 15,000 लाभार्थियों को चुनेगी  2 जनवरी 2019 से पहले।

एक परिवार एक नौकरी योजना | सिक्किम वन फैमिली वन जॉब स्कीम

एक परिवार एक नौकरी योजना का विवरण [one family one job sikkim]

सिक्किम वन फैमिली वन जॉब स्कीम के तहत, राज्य सरकार गरीब परिवारों से लोगों को अपने परिवारों और उनकी वित्तीय स्थिति को बनाए रखने के लिए सरकारी नौकरियां प्राप्त करने में सक्षम बना देगी। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार परिवार में से एक सदस्य को नौकरी प्रदान करेगी ताकि उनके घर में से बेरोज़गार ख़तम हो जाये राज्य सरकार उनके आय में भी वृद्धि करेगी इस योजना का मुख्य उद्देश्य ये है की लोगो का जीवन स्तर के मानकों को बढ़ाने में  करेगी।

इस योजना के तहत राज्य सरकार बेरोजगार लोगो को नौकरी एमआर और विज्ञापन-आधारित आधार के तहत पात्र लाभार्थियों को दी जाएंगी।  अब सिक्किम सरकार सिक्किम राज्य में से हर परिवार में से एक सदस्य को नौकरी प्रदान करेगी

[UPDATE] Maternity Leave Incentive Scheme – मातृत्व अवकाश प्रोत्साहन योजना
राज्य के 15,000 बेरोजगार लोगों के लिए

इस योजना के तहत सिक्किम सरकार 15000 लोगो को नौकरी प्रदान कर देती है और अगर तब भी कोई व्यक्ति रह जाता है तो उसे सक्किम सरकार 2019 तक उन्हें भी नौकरी प्रदान कर देगी सिक्किम के मुख्यमंत्री ने कहा है की इस योजना से किसी भी प्रकार का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए और कोई इस योजना का दुरुपयोग कर रहा है तो उसकी कंप्लेंट सीधे CM को दर्ज की जाएगी अन्य-था CM के अधिकारी फसेबूक पर सीधे इन बॉक्स किया जा सकता है ।

यदि 15,000 व्यक्तियों को सरकारी नौकरियां देने के बाद भी इस योजना से कोई परिवार वंचित रह जाता है, तो ऐसे परिवारों को मार्च 2019 तक लाभान्वित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने पार्टी के सभी नेताओं को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि इस नीति का कोई दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। अगर कोई इस नीति का दुरुपयोग करता है, तो शिकायत सीधे सीएम को दायर की जा सकती है या सीएम के आधिकारिक फेसबुक पेज पर सीधे इनबॉक्स किया जा सकता है।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने राज्य के लोगों से भी वास्तविक लाभार्थियों की पहचान करने में सरकार की मदद करने के लिए अपील की है कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि केवल योग्य परिवार ही इस योजना का लाभ उठाएं।

मेरा नाम शिव राजन है में इस यहाँ पर हिंदी कंटेंट लिखता हूँ मुझे कंटेंट लिखना अच्छा लगता है इसके साथ साथ मुझे अख़बार पढ़ने का शोक है अगर आपको किसी सरकारी योजना में बारे में जानकारी समझ नहीं आती है तो आप कमेंट बॉक्स में जा कर कमेंट करें |

You May Also Like

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *