उत्तर प्रदेश में मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी स्कीम शुरू

राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी स्कीम उत्तर प्रदेश में शुरू की गई है , यह स्कीम मोबाइल पोर्टेबिलिटी की तरह मानी जा रही है इस स्कीम से यूपी की जनता को बहुत लाभ मिल रहा है , इस स्कीम को शुरू हुए 6 दिन हुए हैं 6 दिन में यूपी की जनता ने 78000 से ज्यादा लोगों ने इस स्कीम का फायदा उठाया है, यूपी की जनता ने राशन कार्ड पर पलटी पलटी की सुविधा ली है माना जा रहा था कि 15 अगस्त को यह आंकड़ा एक लाख के करीब पहुंचेगा इस स्कीम से यह फायदा होगा कि राशन की कालाबाजारी पर रोक लगेगी और आम जनता को गरीब जनता को सही राशन मिलेगा उससे कोई परेशानी होगी गरीब जनता को समय पर राशन नहीं मिलता था| राशन की कालाबाजारी होती थी| इसको देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने राशन पॉजिटिविटी स्किन को शुरू किया सबसे ज्यादा अलीगढ़ की जनता ने इस स्कीम में रुचि दिखाई अलीगढ़ में सबसे ज्यादा राशन कार्ड उल्टी की सुविधा को बनाया | उसके बाद कानपुर लखनऊ जैसे अन्य शहरों ने इस स्कीम पर जोर दिया इसकी शुरुआत 5 अगस्त को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुरू की |

बताया जा रहा है की राशन कार्ड धारक के पास कोई ऑप्शन नहीं था जिससे वो फर्जीवाड़े से बच सके अब तक कोटेदार द्वारा राशन कार्ड धारक से ज्यादा पैसे लेना, अभद्रता करना और कम राशन तौल कर देना | इन सब को देखते हुए योगी सरकार ने इस स्कीम को शुरू किया। वहीं सरकार भी इसमें जो पैसा खर्च कर रही है उसका शत-प्रतिशत लाभ हर एक राशन कार्ड धारक को मिले

क्या है राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी स्कीम

राशन कार्ड धारक अपने शहर ने उचित दर पर दुकान से अपनी सुविधा के अनुसार राशन प्राप्त कर सकते हैं योगी आदित्यनाथ ने बताया कि राशन कार्ड धारक अपनी जरूरत का सामान एक बार में ही ले सकते हैं इस स्कीम को शुरू होते ही पहले दिन 13000 से ज्यादा गरीब परिवारों ने इसका फायदा उठाया इस योजना को लखनऊ कानपुर वाराणसी, गोरखपुर और बाराबंकी में लागू की गयी

v

योगी आदित्यनाथ नहीं हो सकेगा फर्जीवाड़ा

राशन पोर्टेबिलिटी स्कीम में आधार कार्ड के जुड़ने की वजह से इसमें फर्जीवाड़ा होने की संभावना खत्म हो गयी है. इसके तहत परिवार के किसी एक सदस्य का आधार कार्ड पोर्टेबिलिटी कराने के दौरान फीड होना चाहिए इससे वो इस स्कीम का लाभ ले सकते है

राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी स्कीम अपनाने वाले टॉप टेन शहर

अलीगढ़- 5873

कानपुर नगर- 5410

लखनऊ- 4865

झांसी- 4284

मुजफ्फरनगर- 3346

फिरोजाबाद- 2530

खीरी- 2337

फर्रुखाबाद- 2221

इटावा- 2185

बुलंदशहर- 1980

कोट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *