पंजाब महात्मा गांधी सर्बत विकास योजना (MGSVY)

Mahatma Gandhi Sarbat Vikas Yojana (MGSVY)

Punjab Mahatma Gandhi Sarbat Vikas Yojana (MGSVY) – पंजाब सरकार द्वारा राज्य के दलित वर्ग के लोगो के विकास के लिए महात्मा गाँधी सर्बत विकास योजना शुरू की है। इस योजना को खास तौर पर ग्रामीण क्षेत्र में रह रहे दलित समुदाय के लोगो के लिए शुरू किया गया है। इस योजना की शुरुआत राज्य में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा की गई है।

पंजाब महात्मा गांधी सर्बत विकास योजना (MGSVY) का उद्देश्य

पंजाब सरकार द्वार इस सरकारी योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य समाज के गरीब दलित वर्ग के लोगो को राज्य सरकार द्वारा उनकी पहचान कर उन्हें सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करना है ताकि उनके हितो की रक्षा हो सके।

पंजाब महात्मा गांधी सर्बत विकास योजना (MGSVY)

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा समाज के सभी गरीब दलित वर्ग के लोगो को सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सभी सरकारी सेवाओं और सरकारी योजनाओं के लाभ प्रदान किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत दलितों के विकास सम्बंधित सभी कार्य किए जाएंगे जिससे उनका सामाजिक स्तर बढ़ सके। इसके अलावा विभिन्न नागरिक सामाजिक संगठनों, प्रवासी भारतीयों (NRIs) और अन्य सामाजिक रूप से दलितों के विकास के लिए प्रोत्साहन प्रदान करना है।

Punjab Mahatma Gandhi Sarbat Vikas Yojana (MGSVY)

इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सरकारी सेवाओं और योजनाओं का लाभ राज्य के सभी कर्जदार किसानो, गरीब परिवार की महिलाएं जिनका कोई कमाने वाला न हो, एड्स पीड़ित परिवार, अलग – अलग श्रेणी के विकलांग, शहीद सैनिक, स्कूल के बहार के बच्चे, वृद्ध लोगो जिन्हें छोड़ दिया गया हो या उनका कोई न हो और नशीली दवाओं का सेवन करने जैसे लोगो को इस योजन तहत शामिल किया गया है।

Punjab Mahatma Gandhi Sarbat Vikas Yojana (MGSVY)

इस योजना का लाभ प्रदान करने के लिए लाभार्थियों का चयन सरकार द्वारा किया जाएगा जिसका सीधा लाभ इस योजना के पत्र लोगो को मिलेगा। इस योजना को विशेष तौर पर गरीब तबके के लोग के लिए शुरू किया गया है।

पंजाब महात्मा गांधी सर्बत विकास योजना (MGSVY) के लिए पात्रता मानदंड

  • इस योजना का लाभ उन किसानो के परिवाओ को दिया जाएगा जिन्होंने ऋण के कारण आत्महत्या की हो।
  • ऐसे परिवार जिनका कोई कमाने वाला न हो।
  • एसा परिवार जो एड्स या कैंसर जैसी बीमारियों से पीड़ित है।
  • शहीदों के परिवार जिसने किसी प्रकार की सहायता न मिल रही हो।
  • जिन परिवारों के बच्चे स्कूल नहीं जाते।
  • स्वतंत्रता सेनानियों के परिवार।
  • जिनके पास रहने के लिए अपना घर नहीं है।
  • नशे से पीड़ित व्यक्ति।
  • वह परिवार जो प्राकृतिक आपदा से पीड़ित हो।
  • 18 वर्ष से अधिक आयु के बेरोजगार लोग।
  • अनाथ, तीसरा लिंग और भिखारी।
  • ऐसे माता-पिता जिनके बच्चों ने घर पर जन्म लिया हो
  • एसिड पीड़ित जिन पर एसिड अटैक हुआ हो
मेरा नाम प्रदीप कुमार है में इस वेबसाइट में एडमिन के तौर पर काम करता हूँ और मुझे हिंदी में लिखना अच्छा लगता है और में अपनी तरफ से पूरी कोशिश करता हूँ की जो पोस्ट में डालू उससे मेरे यूजर को पूरी हेल्प मिले मुझे लिखना और साथ में चाय पीना अच्छा लगता है।

You May Also Like

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *