प्रधानमंत्री आवास योजना उत्तर प्रदेश | Pradhanmantri Awas Yojana in Uttar Pradesh

प्रधानमंत्री आवास योजना उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश हाउसिंग एंड डेवलपमेंट काउंसिल ने गाजियाबाद डिवीजन में प्रधान मंत्री की आवास योजना के तहत विभिन्न योजनाओं के कुल 2460 फ्लैटों को बनाया गया है। मंडल सर्कल आश्रय के अलावा सिद्धार्थ विहार योजना के तहत सिद्ध, गंगा, हिंडन और यमुना योजना के अलावा, शिखर एन्क्लेव, ब्रह्मपुत्र योजना और वसुंधरा सेक्टर -4 सी में ईडब्ल्यूएस के फ्लैट शामिल हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उनमें से 90% घर हैं जो किसी भी कारण से नहीं बेचे जा सके हैं। अतिरिक्त आवास आयुक्त महेंद्र प्रसाद ने कहा कि विभाग 25 मई से आवेदन की प्रक्रिया शुरू करने पर विचार कर रहा है। इस योजना में फ्लैट के आवेदक को आधार संख्या से जोड़ा जाएगा। यह उसी पर लागू होगा, जिन्होंने पहले प्रधान मंत्री आवास योजना का लाभ नहीं लिया है। इसमें एमआई -1 और एमआई -2 श्रेणियां शामिल हैं।

कई बैठकों के बाद

हाउसिंग डेवलपमेंट काउंसिल लंबे समय तक फ्लैटों से परेशान थे, जो अपनी योजनाओं में बेचे नहीं जा सके थे। ऐसे परिदृश्य में, परिषद ने उन सभी योजनाओं में प्रधानमंत्री आवास योजना में शेष  फ्लैटों को शामिल करने का निर्णय लिया। आवास आयुक्त के साथ बैठक के कई राउंड आयोजित किए गए थे।

ये हैं वे फ्लैट

  1. आसरा-1- 1049
  2. आसरा-2 -322
  3. सपना-1- 195
  4. सपना-2 -167
  5. शिखर एनक्लेव -13
  6. गंगा, यमुना व हिंडन- 698
  7. वसुंधरा 4-C EWS -21
  8. ब्रह्मपुत्र-12

12 लाख आय वालों को 4 प्रतिशत की होगी छूट

इस योजना के तहत, जो लोग सालाना 12 लाख रुपये कमाते हैं, उन्हें घर खरीदने के लिए 9 लाख रुपये की रकम पर 4% की छूट मिल जाएगी। उदाहरण के लिए, अगर किसी ने 25 लाख रुपये का घर खरीदा है और 20 लाख रुपये का ऋण लिया है, तो उसे 11 लाख रुपये के ऋण पर पूरा ब्याज देना होगा,लेकिन शेष 9 लाख रुपये पर 4 प्रतिशत की दर से सब्सिडी मिलेगी उदाहरण के लिए, अगर किसी को 9 प्रतिशत की दर से ऋण मिलता है, तो उसे नौ लाख रुपए के लिए केवल 5 प्रतिशत की दर से भुगतान करना होगा। उसके लिए शर्त इतनी होगी कि व्यक्ति ने 90 वर्ग मीटर तक का ही घर खरीदा हो।

18 लाख आय वाले लोगों के लिए 3 प्रतिशत की छूट

दूसरी श्रेणी 18 लाख रुपये की वार्षिक आय की गई है। ऐसे लोग 110 वर्ग मीटर तक मकान खरीदकर इस सब्सिडी का लाभ ले सकते हैं। ऐसे लोगों को 12 लाख रु के ऋण पर 3 प्रतिशत ब्याज की छूट मिल जाएगी। अगर किसी ने 9% की ब्याज दर पर ऋण लिया है, तो उसे 12 लाख रूपये की ऋण राशि के लिए ब्याज पर 9% की बजाय 6% की दर से ब्याज का भुगतान करना होगा।

Leave a Reply