PMUY अरुणाचल प्रदेश में शुरू

PMUY अरुणाचल प्रदेश में शुरू

PMUY अरुणाचल प्रदेश में शुरू ,प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY), एक केंद्रीय योजना है जिसके अंतर्गत बीपीएल परिवारों की महिलाओं को स्वच्छ खाना पकाने के लिए ईंधन प्रदान किया जाएगा, इस योजना को अरुणाचल प्रदेश में 11 जून 2017 को शुरू किया गया था।

इस योजना का उद्देश्य देश भर में 2019 तक 5 करोड़ बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है और एक कनेक्शन के लिए सरकार 1,600 रुपये की सहायता प्रदान कर रही है।

मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने एक समारोह में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू और राज्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री कमलंग मोसांग की मौजूदगी में इस योजना की शुरुआत की।

खंडू ने इस योजना की सराहना की और घोषणा की,कि उनकी सरकार प्रत्येक लाभार्थी के लिए 1,000 रुपये की सब्सिडी देगी, जिसमें कुल सब्सिडी की रकम 2,600 रुपये है। PMUY के तहत पूरी आवश्यकता 3,500 रुपये की होगी।

योजना शुरू करने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए खांडू ने कहा कि यह योजना अरुणाचल प्रदेश को बेहद लाभान्वित करेगी क्योंकि राज्य की आधी से ज्यादा आबादी, खासकर ग्रामीण इलाकों में, अभी भी खाना पकाने के लिए जलाऊ लकड़ी का इस्तेमाल करते हैं।

“इन तीन वर्षों में, प्रधान मंत्री ने समाज के प्रत्येक खंड को पूरा करने वाली 90 प्रमुख योजनाएं शुरू कीं। ये हमारी जिम्मेदारी है कि इन योजनाओं को वास्तविक लाभार्थियों को पारदर्शी और न्यायपूर्ण तरीके से पहुचाना चाहिए।”

नॉर्थ ईस्ट में सबसे ज्यादा फेफड़े के कैंसर के मामलों की जानकारी देते हुए, रिजिजू ने लगभग सभी घरों में खाना पकाने के लिए जलाऊ लकड़ी का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया और कहा कि PMUY अब इस परिदृश्य में बदलाव लाएगा, स्वच्छ वातावरण उपलब्ध कराएगा और यह जंगलों के संरक्षण के लिए होगा।

You may also like :   [CSC Portal] डिजिटल सेवा पोर्टल ऑनलाइन पंजीकरण digitalseva.csc.gov.in

राज्य में PMUY के एक प्रतीकात्मक शुभारंभ के रूप में, 24 लाभार्थियों को एलपीजी कनेक्शनों को सौंप दिया गया। अरुणाचल प्रदेश में करीब 3.04 लाख परिवार हैं जिनमें एलपीजी कवरेज 65 फीसदी हैं।

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के महाप्रबंधक के के हंडीक ने कहा की PMUY का लक्ष्य पांच लाख लाभार्थियों तक पहुंचना है, जो राज्य में एलपीजी कवरेज को 90 फीसदी तक ले जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *