नाबार्ड ने पीलीभीत में डेयरी डेयरी उद्यमिता विकास योजना शुरु की

पीलीभीत में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) ने एक डेयरी उद्यमिता विकास योजना (डीईडीएस) गुरुवार को शुरुआत की है ये योजना  कृषि मंत्रालय की एक महत्वाकांक्षी योजना है इस योजना का मुख्य लक्ष्य ये है की दुग्ध उत्पादन को बढ़ाना है।इस आलावा कई गतिविधियों को मजबूत करने के अलावा , शीत श्रृंखला के माध्यम से दूध और दूध उत्पादों के संरक्षण के साथ-साथ संबंधित उत्पादों के विपणन भी शामिल हैं।

यह योजना ‘डेयरी एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट स्कीम’ के नाम पर शुरू की गई है जो की सब्सिडी पर आधारित है,तथा पूंजी निवेश के लिए जिम्मेदार है।

सरकारी योजनाओं के बारे में अंग्रेजी में पढ़ें 

रोहित मिश्र ने सभी बैंकों के अध्यक्षों से कहा की भारत सरकार ने चालू वित्त वर्ष के दौरान 31 राज्यों में 240 करोड़ रुपये की सब्सिडी के लिए बजट में  प्रावधान किया है, जहां इस योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के लोगों को 13.73 करोड़ रूपये की सब्सिडी प्राप्त होने की आशा है।

v

अन्य योजनाओं के बारे में हिंदी में पढ़ें

हम आपको सूचित करना चाहते है कि यह कोई अधिकारिक वेबसाइट नहीं है। हमारा हमेशा से यही प्रयत्न रहता है की हम आपको सरकार की विभिन्न प्रकार की योजनाओ से समबन्धित सही जानकारी प्रदान करे। आमतौर पर योजनाओ की जानकारी का स्रोत अखबार, न्यूज़ चैनल और सरकार द्वारा चलाई गई वेबसाइट होती है, जिन्हें अलग - अलग स्रोतों से एकत्रित किया जाता है। इसके अलावा हमारा किसी भी सरकारी संस्था या सरकार से किसी भी प्रकार का कोई संबंध नहीं है। हमारा कार्य केवल सरकार की योजनाओ की सही जानकारी देना है हमारी वेबसाइट पर किसी भी व्यक्ति से किसी भी प्रकार का कोई डाटा नहीं लिया जाता हम आपसे अनुरोध करना चाहेंगे की आप हमारी वेबसाइट पर अपनी किसी भी प्रकार की पर्सनल जानकारी न डाले अगर आप ऐसा कुछ करते है तो इसके प्रति हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।

About schemes-admin


मेरा नाम प्रदीप कुमार है में इस साइट में एडमिन के तौर पर काम करता हूँ मुझे हिंदी में लिखा अच्छा लगता है और में अपनी तरफ से कोसिस करता हुआ की जो पोस्ट में डालू उससे मरे यूजर को पूरी हेल्प मिले मुझे लिखना और साथ में चाय पीना अच्छा लगता है

DMCA.com Protection Status

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *