मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री महिला कोष योजना – 50 वर्ष तक की एकल महिलाओं के लिए मासिक पेंशन योजना

MP Mukhyamantri Mahila Kosh Scheme – मध्य प्रदेश की राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में इंटरनेशनल महिला दिवस के अवसर पर मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री महिला कोष योजना को शुरू करने की घोषणा की है। इस योजना के अंतर्गत, राज्य सरकार उन सभी महिलाओं को पेंशन प्रदान करेगी जो 50 साल की उम्र के बाद एकल (अविवाहित) हैं। इस योजना को शुरू करने के पीछे राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य एकल लड़कियों को स्वतंत्र बनाना है और इस प्रकार यह योजना महिला सशक्तिकरण में एक प्रमुख भूमिका निभाएगी।

MP Mukhyamantri Mahila Kosh Scheme

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री महिला कोष योजना

इस मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री महिला कोष योजना के अंतर्गत, मध्यप्रदेश सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मासिक पेंशन प्रदान करेगी। इसके अलावा,राज्य सरकार अविवाहित महिलाओं के सम्मान और गौरव पर भी ध्यान केंद्रित करेगी। इस प्रयोजन के लिए, राज्य सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि किसी भी व्यक्ति को महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने पर गंभीर परिणामों का सामना करना होगा।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महिलाओं को समाज का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा माना है और देश के सबसे महत्वपूर्ण पद महिलाओं के पास हैं।

MP Mukhyamantri Mahila Kosh Scheme

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री महिला कोष पेंशन योजना

नीचे इस नई पेंशन योजना की महत्वपूर्ण विशेषताएँ दी गई हैं –

  • इस योजना के अंतर्गत, राज्य सरकार मध्यप्रदेश की सभी महिला निवासियों के लिए मासिक पेंशन प्रदान करेगी जो अकेली हैं।
  • इस पेंशन योजना का मुख्य उद्देश्य अविवाहित महिलाओं के प्रति विचार और व्यवहार को बदलना है।
  • इस योजना के तहत, सभी अविवाहित महिलाओं को जब तक वे शादी नहीं करती हैं तब तक मासिक पेंशन प्राप्त होगी।
  • मध्यप्रदेश सरकार राज्य महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने और दुर्व्यवहार की घटनाओं को रोकने के लिए सख्त कानून सुनिश्चित करेगी।
  • इस योजना की आयु सीमा न्यूनतम 50 वर्ष है।
  • मुख्यमंत्री चौहान ने यह योजना 8 मार्च 2018 को शुरू की।

MP Mukhyamantri Mahila Kosh Scheme

Mukhyamantri Mahila Kosh Scheme

 

Leave a Reply