मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना 2017- आवेदन कैसे करें

मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना -2017 :- सभी राज्य सरकारें अपने राज्य के किसानो के कल्याण के लिए कार्य कर रही हैं। जबकि उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र सरकार ने तो पहले ही अपने राज्य के किसानों का कृषि ऋण माफ़ कर दिया है।मध्यप्रदेश सरकार का इसके पीछे मकसद क्या है? मध्यप्रदेश सरकार ने हाल ही में मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना 2017 के नाम से एक नई योजना की घोषणा की है। यह योजना मूल रूप से राज्य के किसानों के लिए शुरू की गयी है। इस लेख में हम आप सभी को इस योजना से सम्बंधित प्राप्त सभी जानकारियों से अवगत कराएँगे।

मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना क्या है? 

तो हम शुरुआत करते हैं योजना के मुख्य उद्देश्य से,इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में किसानो द्वारा की जा रही आत्महत्या की घटनाओं को कम करना है। इसलिए सरकार यह योजना बना रही है की राज्य के कृषि क्षेत्र में कई तरह के बदलाव किये जाएँ। मिली जानकारी के अनुसार,योजना के अनुसार सरकार ने पाया है की किसानों को दिए जा रहे मूल्य और मेहनत के अनुसार मंडी के वास्तविक मूल्य में बहुत अंतर है। इसलिए सरकार अब फसल का पैसा सीधे किसानों के बैंक खातों में भेज देगी।

इस योजना को अंग्रेजी में पढ़ें

योजना कम कैसे करती है?

ये तो सभी जानते है की किसान को बिक्री मूल्य और वस्तु के साथ पारिश्रमिक मूल्य की जानकारी को जमा करना पड़ता है। इसके अलावा और भी बहुत से दस्तावेज हैं सरकार उनकी जाँच करके मूल्यांकन करती है और उसके बाद किसान को वही राशी दी जाती है। किसानों को इस योजना के बहुत लाभ हैं उन्हें किसी प्रकार का घाटा नहीं होता है। वे अपने ऋण को जमा कर सकते हैं और अगले मौसम कि फसलों की बुआई भी कर सकते हैं।

सरकार इसी हिसाब की एक मोबाईल एप शुरू करने की योजना बना रही है। इस योजना की खासियत यह है की इसमें कोई विवाद नहीं है। अगर किसान के साथ कोई विवाद होता भी है तो मामले पर तीन महीने तक विचार किया जाएगा,उसके बाद ही किसान को सारे लाभ दिए जाएँगे। सरकार ने पहले ही यह घोषित कर दिया है की किसानों को दी जाने वाली राशी सरकारी कर्मचारियों के वेतन से काटी जाएगी जो काम नहीं करते हैं और जिनकी वजह से मामले की समय पर सुनवाई नहीं हो पाती है।

योजना के लिए पात्रता मानदंड क्या है?

योजना की घोषणा हाल ही में हुई है इस वजह से पात्रता की जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है। एक बार जानकारी हमारे पास उपलब्ध होने पर हम कुछ समय के बाद ही उसे अपडेट करेंगे।

योजना के लाभ क्या हैं?

योजना के बहुत से लाभ है जिनमें से कुछ को निचे सूचीबद्ध किया गया है।

  • योजना से पक्के तौर पर किसान को कोई घाटा नहीं होगा और वे अपने सामान का उचित मूल्य पा सकेंगे।
  • किसान अपने लोन की राशी को दुबारा जमा करने में सक्षम होंगे जिससे किसान अपने परिवार को समर्थन के साथ बेहतर भविष्य की ओर ले जा सकेंगे। इस वजह से किसानों को बैंकों से कर्ज नहीं लेना पड़ेगा।
  • सबसे बड़ी बात यह है की इससे किसानों द्वारा की जा रही आत्महत्या की दर को कम करने में मदद मिलेगी।

कौन योजना वापस करेगा

योजना को मध्य प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा समर्थित किया जा रहा है और वे उपस्कर और धन के लिए सभी व्यवस्था कर रहे हैं।

योजना का विवरण

  • योजना का नाम- मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना
  • योजना के लिए बजट – NA
  • योजना किसके द्वारा शुरू की गयी- मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा

ऑनलाइन आवेदन करे 

क्या यह राष्ट्र के आगे बढ़ने का रास्ता है?

यह योजना निश्चित रूप से किसानों की मदद के लिए है लेकिन यह एक दीर्घकालिक समाधान नहीं है। सरकार को किसानों को सुविधा प्रदान करने के लिए आधारभूत संरचना का विकास करना चाहिए और इसके अतिरिक्त बेहतर सिंचाई सुविधाओं को प्रदान करने के लिए प्रौद्योगिकी को किसानों को प्रदान करना होगा और साथ ही साथ भारत में कृषि क्षेत्र के समग्र विकास को सुनिश्चित करना होगा।

2 comments

  • Shobhit Raghuwanshi

    Mare makka 912 rs. Me bike aab muje 235 rs or milege tho 1147 rs hi hoge 1425–1147= 278 tho gaye na aab ky fayeda h muje

  • Rajeshwari dubey

    Sir me rajeshwari dubey mere bhavanter ki Rashi abhi tak Nahi aai hai jabki fasal December me bechi thi

Leave a Reply