उत्तर प्रदेश किशोरी बालिका योजना 2019 – SAG [Scheme for Adolescent Girls]

Kishori Balika Yojana UP Scheme for Adolescent Girls उत्तर प्रदेश किशोरी बालिका योजना 2019 योगी योजना UP Scheme for Adolescent Girls (SAG) – 21 फरवरी 2019 को उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा राज्य की सभी लडकियों के हितो का ध्यान रखते हुए एक नई सरकारी योजना को शुरू करने का अधिकारिक एलान किया है राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस सरकारी योजना का नाम किशोर बालिका योजना है यूपी सरकार द्वारा इस सरकारी योजना को शुरू करने के मुख्य लक्ष्य है राज्य की सभी 11 वर्ष से 14 वर्ष की आयु की लडकियों को स्नातक स्तर तक की शिक्षा प्राप्त करने में अधिक से अधिक सहायता की जा सके इतना ही इसके अलावा, राज्य सरकार का उधेश्य है की राज्य की अधिक से अधिक बालिकाओ को शिक्षा की ओर प्रेरित किया जा सके

Kishori Balika Yojana UP

इतना ही नहीं इसके अलावा, राज्य के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा राज्य भर के आंगनवाड़ी केंद्रों में प्रत्येक माह की 8 तारीख को किशोर दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है साथ ही राज्य सरकार 8 मार्च 2019 को किशोरवय लड़कियों के लिए एक पोषण अभियान आयोजित करने की योजना भी बना रही है

उत्तर प्रदेश किशोरी बालिका योजना 2019 – Kishori Balika Yojana UP

योगी सरकार ने इस सरकारी योजना को इसलिए शुरू किया है ताकि राज्य की सभी लडकियों की शिक्षा का ध्यान रखा जा सके साथ उनकी अधिक से अधिक मदद की जा सके इतना ही नहीं इस सरकारी योजना के अंतर्गत, यदि किसी लड़की ने अपनी
स्नातक की पढ़ाई पूरी होने तक 11 से 14 साल की उम्र में पढ़ाई छोड़ दी है उन सभी लडकियों को इस किशोर बालिका योजना का अधिक से अधिक लाभ दिया जाएगा यूपी में इस एसएजी योजना के व्यापक उद्देश्य पोषण, स्वास्थ्य और विकास की स्थिति में सुधार करना, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण और परिवार की देखभाल के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना है
इसके अलावा, एसएजी योजना उन्हें जीवन कौशल सीखने, स्कूलों में वापस जाने, सामाजिक परिवेश की बेहतर समझ हासिल करने में मदद करने और समाज के उत्पादक सदस्य बनने के लिए पहल करने के अवसर भी प्रदान करेगी

You may also like :   उत्तर प्रदेश शराब शॉप ऑनलाइन पंजीकरण
घटक – यूपी किशोरी बालिका योजना (Kishori Balika Yojana UP)

उत्तर सरकार द्वारा शुरू की गई इस सरकारी योजना के दो प्रमुख घटक है जो आप निम्नलिखित प्रकार से समझ सकते है जैसे की –

  • पोषण घटक – 11 से 14 वर्ष की सभी स्कूली लड़कियाँ होम राशन या हॉट कुक्ड मील दिया जाएगा। हम आपको बताना चाहते है की सभी लडकियों को दिए जाने वाले राशन के अंतर्गत, 18 ग्राम प्रोटीन और 600 ग्राम कैलोरी दी जाएगी और प्रति दिन सूक्ष्म पोषक तत्वों के दैनिक सेवन की सिफारिश की जाएगी
  • गैर पोषण घटक – इसके अंतर्गत, सभी स्कूली लड़कियों के लिए IAS अनुपूरक, स्वास्थ्य जांच, और रेफरल सेवाएं, पोषण और स्वास्थ्य शिक्षा (NHE), परिवार कल्याण पर परामर्श / मार्गदर्शन, बाल देखभाल अभ्यास, जीवन कौशल शिक्षा और अभिगम का लाभ उठा सकते हैं। यह भी सेवाएँ सभी लडकियों को हर सप्ताह में 2 से 3 दिन दी जाएगी

ग्रामीण फ्री शौचालय निर्माण लिस्ट या सूची में नाम देखे

कवरेज – यूपी किशोरी बालिका योजना – (Kishori Balika Yojana UP)
  • यूपी में किशोर लड़कियों के लिए योजना (एसएजी) 11 से 14 वर्ष की आयु के सभी स्कूली किशोर लड़कियों को शामिल करेगी। 
  • एसएजी योजना को केंद्रीय सरकार द्वारा लागू किया गया था। इतना ही नहीं हम आपको बताना चाहते है की वित्त वर्ष 2010 से ही देशभर के 205 जिलों में लागू है बाद में, सरकार द्वारा 2017-18 में अतिरिक्त 303 जिलों में चरणबद्ध तरीके से किशोर बालिका योजना का विस्तार और सार्वभौमिकरण किया गया है

इस सरकारी योजना से जुड़ी अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमसे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है

हम आपको सूचित करना चाहते है कि यह कोई अधिकारिक वेबसाइट नहीं है। हमारा हमेशा से यही प्रयत्न रहता है की हम आपको सरकार की विभिन्न प्रकार की योजनाओ से समबन्धित सही जानकारी प्रदान करे। आमतौर पर योजनाओ की जानकारी का स्रोत अखबार, न्यूज़ चैनल और सरकार द्वारा चलाई गई वेबसाइट होती है, जिन्हें अलग - अलग स्रोतों से एकत्रित किया जाता है। इसके अलावा हमारा किसी भी सरकारी संस्था या सरकार से किसी भी प्रकार का कोई संबंध नहीं है। हमारा कार्य केवल सरकार की योजनाओ की सही जानकारी देना है हमारी वेबसाइट पर किसी भी व्यक्ति से किसी भी प्रकार का कोई डाटा नहीं लिया जाता हम आपसे अनुरोध करना चाहेंगे की आप हमारी वेबसाइट पर अपनी किसी भी प्रकार की पर्सनल जानकारी न डाले अगर आप ऐसा कुछ करते है तो इसके प्रति हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।

About Shiv Rajan


एमपी भूलेख अब मध्य प्रदेश के वासियों घर बैठे अपनी भूमि या अपने जमीन और खेत का खसरा नंबर डालकर अब आप ऑनलाइन भूलेख का नक्शा देख सकते हैं.

DMCA.com Protection Status

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *