Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana – Free Coaching For SC/ ST Students In Delhi

Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana – दिल्ली सरकार ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति छात्रों के लिए प्रवेश और प्रतियोगी परीक्षाओं के निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana नामक एक नई योजना की शुरूआत की है। दिल्ली सरकार ने यह घोषणा की है की अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के छात्र जो निःशुल्क कोचिंग स्कीम के तहत पंजीकरण करवाते हैं वे छात्र दिल्ली में निःशुल्क कोचिंग सेंटर में ट्यूशन का लाभ उठा सकते हैं।

जो छात्र समाज के गरीब और निचले वर्ग से आते हैं और आईएएस, बैंकिंग, एसएससी, न्यायिक सेवाओं, इंजीनियरिंग, चिकित्सा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करना चाहते हैं वे छात्र  Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana के तहत मुफ्त में कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं। यह योजना इन छात्रों को व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के माध्यम से अपने भविष्य का निर्माण करने और उन्हें अपना नौकरी का सपना साकार करने में सक्षम बनाती है।

Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana – एससी / एसटी के लिए फ्री कोचिंग योजना की विशेषताएं

  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के छात्र मुफ्त कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं और कोचिंग का पूरा खर्च दिल्ली सरकार द्वारा उठाएगी।
  • जानेमाने और मान्यता प्राप्त कोचिंग संस्थान इस योजना का हिस्सा होंगे।
  • जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत पंजीकृत छात्रों को कोचिंग के अलावा 2500 / – रूपये प्रतिमाह वजीफे के रूप में मिलेंगे।
  • इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए छात्रों को प्रवेश परीक्षाओं के लिए कोचिंग दिया जाएगा।
  • ग्रेजुएट, पोस्ट-ग्रेजुएट छात्र भी सिविल सेवाओं, रक्षा परीक्षा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग प्राप्त कर सकेंगे।
  • 5000 से अधिक छात्रों को इस योजना से लाभ मिलेगा।

सरकारी योजनाओं के बारे में और अधिक जानें

Eligibility for Jai Bhim Pratibha Vikas Yojana

जय भीम प्रतिभा विकास योजना के लिए पात्रता

  • दिल्ली में अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के छात्रों को मुफ्त कोचिंग योजना के लाभ पाने के लिए छात्रों को निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करना होगा।
  • उम्मीदवारों को कोचिंग संस्थानों की चयन प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
  • जिन छात्रों की पारिवारिक आय 2 लाख रुपये से कम है,सरकार उनके लिए कोचिंग की पूरी लागत का वहन करेगी।
  • जिन छात्रों की परिवार की आय 2 लाख रुपये से 6 लाख रुपये है, उन्हें सरकार से 75 फीसदी सहायता मिलेगी।
  • केवल वे ही छात्र वे पात्र होंगे जो कोचिंग सेंटर की चयन प्रक्रिया को पास करेंगे।
  • नि:शुल्क कोचिंग योजना एससी / एसटी छात्रों के लिए वित्तीय सहायता के रूप में काम करेगी और उन्हें परीक्षाओं के लिए अच्छी तरह तैयार करने में सक्षम करेगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि गरीबों को अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करने के लिए सरकार ऋण योजना की भी शुरुआत करेगी।

4 comments

Leave a Reply