कैसे आवेदन करें :लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना बिहार

लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना

बिहार राज्य सरकार नें विधवाओं के लिए वर्ष 2007 में समाज में उनकी सामाजिक स्थिति उन्नयन करने के लिए ‘लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना’ नामक एक योजना शुरू की थी।
लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना क्या है

‘लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना’ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दिशा निर्देशों के तहत शुरू की गई है। यह योजना विधवाओं को 300 रुपये की मासिक सुरक्षा पेंशन के रूप में एक सहायता प्रदान करके जो राज्य के बीपीएल परिवारों के अंतर्गत आती हैं । जिनकी उम्र18 से 39 वर्ष है या जिनकी वार्षिक आय INR 60000 से भी कम है उनके कल्याण के लिए योजना को शुरू किया गया है। 40 से 59 साल की उम्र की महिलाऐं योजना की पात्र हैं, लेकिन आय 60000 रुपये से भी कम होनी चाहिए । अगर उम्र 60 वर्ष से भी अधिक है तो पेंशन प्राप्त कर सकते हैं लेकिन आय 60000 रुपये से कम होनी चाहिए।

इस योजना की सुविधाएँ

  • इस योजना के तहत 300 रुपये की पेंशन पात्र महिला को प्रति माह दी जाएगी।
  • 18-65 आयु वर्ग के पात्र होंगे और 65 से ऊपर की महिलाऐं लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना की पेंशन पाने के लिए पात्र नहीं हैं।

इस योजना के लिए पात्रता

  • बीपीएल परिवार में रहने वाली 18-39 साल की उम्र की विधवा महिला की वार्षिक आय 60000 रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए है।
  • 40 से 59 साल की विधवा महिलाओं वार्षिक आय 60000 रुपये से भी कम होनी चाहिए ।
  • 60 वर्ष से अधिक उम्र की विधवा महिला की वार्षिक आय 60000 रूपये से कम हो ।
  • महिला जिसकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है और जो लक्ष्मी बाई सामाजिक सुरक्षा पेंशन की पात्र है और बीपीएल परिवारों की सूची में नहीं है |
  • योजना के लिए महिलाओं का बिहार राज्य का एक निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।

कैसे लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना के लिए रजिस्टर करें

  • पात्र और जरूरतमंद आवेदकों को संबंधित ब्लॉक कार्यालय की RTPs काउंटर पर आवेदन करना होगा ।
  • आवेदक ब्लॉक कार्यालय में निर्धारित प्रपत्र में आवेदन करने के लिए है । योजना 15 अगस्त 2011 से लोक सेवा गारंटी अधिनियम का एक हिस्सा है।

आवश्यक दस्तावेज़:

  • आवेदक के पास इस योजना के तहत पंजीकरण के लिए निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए।
  • आवेदक का पासपोर्ट आकार का फोटो
  • बीपीएल प्रमाण पत्र या आय प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • एक बचत खाता निकटतम डाकघर में होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेजों के साथ निर्धारित प्रपत्र, ब्लॉक अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करने पर आवेदक को रसीद दी जाएगी । रसीद प्रस्तुत फार्म की स्थिति जानने के लिए उपयोगी है। किसी भी कारण  से अगर फार्म अस्वीकार कर दिया गया है, यह आवेदक को सूचित किया जाता है। जब फार्म स्वीकार किया जाता है, स्वीकृति आदेश  पोस्ट ऑफिस में भेज दिया जाता है और पेंशन आवेदक के खाते में जमा करने के लिए भेज दी जाती है।उसके बाद आवेदक खाते से राशि निकाल सकते हैं।

2 comments

Leave a Reply