आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन उत्तराखंड और लाभार्थियों की सूची

आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन उत्तराखंड  :– केंद्र सरकार की स्वास्थ्य उपचार योजना के तहत आयुष्मान भारत योजना, सभी योग्य लोग बड़े निजी / ट्रस्ट अस्पतालों जैसे श्री महंत इंदेशेश अस्पताल, हिमालयी अस्पताल, सिनर्जी, मैक्स, कैलाश इत्यादि अस्पताल में उपचार सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। क्योंकि इस योजना के तहत सभी बड़े-छोटे अस्पतालों को जोड़ा गया है।

Ayushman Bharat Yojana Registration Process

स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। नि:शुल्क स्वास्थ्य उपचार सुविधाएं राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध होंगी। इतना ही नहीं, निजी अस्पतालों को भी इस योजना के तहत शामिल किया जाएगा। इस योजना के तहत, राज्य सरकार ने कैंसर, हृदय रोग और राज्य के 22 लाख परिवारों सहित 1349 बीमारियों के नि:शुल्क उपचार के लिए तैयारी की है। 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर इस योजना को पुरे देश में एक साथ लागू किया जा रहा है।

Ayushman Bharat Yojana Uttarakhand Registration Process

वर्ष 2011 में केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किए गए सामाजिक और आर्थिक सर्वेक्षण आंकड़ों के मुताबिक, राज्य के 534578 परिवारों की कुल संख्या को इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा। अब तक, राज्य में 61.9% लाभार्थियों की पहचान की जा चुकी है। ग्रामीण क्षेत्रों में 391909 और शहरी क्षेत्रों में 142669 परिवारों की पहचान की गई है।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना से संबंधित 12 लाख परिवार, लगभग 4.5 लाख यू हेल्थ कार्ड धारक, सेवा और सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों को भी इस योजना के तहत कवर किया जाएगा। इस तरह, राज्य के लगभग 22 लाख परिवार इस योजना का लाभ उठाने के लिए तैयार हैं। सरकार का इरादा इस योजना को राज्य में सार्वभौमिक योजना के रूप में लागू करना है और सभी योग्य लोगों को 5 लाख रूपये तक का उपचार प्रदान करना है।

Latest Swayam Courses List [Top 100] | Online Registration & Login

आयुष्मान भारत योजना उत्तराखंड पंजीकरण प्रक्रिया

आयुषमान भारत योजना लाभार्थियों की सूची में अपना नाम जोड़ने के लिए, नीचे उल्लिखित सरल चरणों का पालन करें –

  • आपको अपने निकटतम सीएमओ कार्यालय, जिला अस्पताल, सीएचसी या जन सेवा केंद्र पर अपने आधार कार्ड, राशन कार्ड और मोबाइल नंबर के साथ भौतिक सत्यापन करना होगा।
  • जैसे ही सॉफ्टवेयर में दस्तावेज़ दर्ज किए जाते हैं, लाभार्थी का नाम गोल्डन रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा। तभी लोगों को योजना का लाभ मिलेगा।

आयुष्मान भारत योजना ई-कार्ड वितरण

योजना के लाभार्थियों को आयुष्मान भारत योजना ई-कार्ड जारी किया जा रहा है। ई-कार्ड में क्यूआर कोड और बारकोड के माध्यम से लाभार्थी की सभी जानकारी तुरंत कंप्यूटर से उपलब्ध होगी। इस योजना के तहत उपचार पाने के लिए लाभार्थी को यह ई-कार्ड दिखाना होगा।

click here registration: https://mera.pmjay.gov.in/search/login

मेरा नाम प्रदीप कुमार है में इस वेबसाइट में एडमिन के तौर पर काम करता हूँ और मुझे हिंदी में लिखना अच्छा लगता है और में अपनी तरफ से पूरी कोशिश करता हूँ की जो पोस्ट में डालू उससे मेरे यूजर को पूरी हेल्प मिले मुझे लिखना और साथ में चाय पीना अच्छा लगता है।

You May Also Like

11 Comments

  1. अगर लिस्ट में नाम नही है तो कैसे इस योजना का लाभ मिलेगा बताये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *