तेलंगाना सरकार देगी अस्पतालों में प्रसव और स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता को बढ़ावा

अस्पतालों में प्रसव को बढ़ावा

तेलंगाना सरकार स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता को बढ़ावा देने के लिए एक महत्वपूर्ण परियोजना शुरू करने जा रही है। प्रसव के दौरान अस्पताल में तेलंगाना स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रशासित इस योजना के माध्यम से नजर रखी जायेगी। राज्य भर में अस्पतालों में कला चिकित्सा प्रौद्योगिकियों को नए और उचित बुनियादी ढांचे के साथ पुनर्जीवित किया जाएगा ताकि महिलाओं के बच्चों को निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में प्रसव की सेवाओं का लाभ उठाने में आधुनिक तरह की बराबर सुविधाएं मिल सकें। इस योजना के तहत कई प्रस्तावों का भी प्रचारित किया गया ताकि इस परियोजना को आम जनता के बीच बढ़ावा मिल सके। इस योजना की घोषणा माननीय स्वास्थ्य मंत्री, श्री सी एल रेड्डी ने की थी।

ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों पर ध्यान

तेलंगाना में मुख्य रूप से शहरों में एक पर्याप्त संख्या में निजी और सरकारी अस्पताल हैं जहाँ बच्चों का सुचारू रूप से प्रसव हो सकता है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की मुख्य चिंता ग्रामीण क्षेत्रों और आदिवासी बेल्ट में रहने वाली की आबादी है। जिनको या तो भारत सरकार की ग्रामीण चिकित्सा सुविधाओं के साथ समझौता करना पड़ता है या अस्पतालों में प्रसव के लिए शहरों में जाना पड़ता है। कुछ मामलों में, प्रसव अभी भी सदियों पुरानी तकनीक से गांव की महिलाओं की मदद से किया जाता है। इसलिए, इस योजना के कार्यान्वयन में और अधिक दबाव उन क्षेत्रों में जहां ग्रामीण आबादी और आदिवासी लोगों का बहुमत है। संस्थागत प्रसव को कार्यान्वित करने के लिए ग्रामीण इलाकों में और आदिवासी समुदायों के लिए विशेष ध्यान दिया जाएगा।

इस योजना से क्या उम्मीद है?

तेलंगाना सरकार के स्वास्थ्य मंत्री की घोषणा के अनुसार जल्द ही सरकार अस्पतालों में प्रसव को बढ़ावा देने के संबंध में परियोजना योजना तैयार करेगी।आगामी बजट सत्र में तेलंगाना सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में धन की एक अच्छी राशि आवंटित करेगी।

नीचे कुछ प्रमुख अंक हैं जो इस योजना में शामिल किया जा रहे हैं:

  • इस परियोजना के तहत हो सकता है सरकार हर डिलीवरी के लिए नकद पुरस्कार किसी भी शुरूआत कर सकती है। तेलंगाना भर में अस्पताल नकद इनाम की राशि को राज्य के ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में प्रसव के मामले में बढ़ाया जा सकता है। इससे राज्य सरकार को अस्पतालों में संस्थागत प्रसव के विचार को बढ़ावा देनें में मदद मिलेगी ।
  • सभी सरकारी अस्पतालों नवीनीकरण होगा और राज्य भर में मौजूदा चिकित्सा सुविधाओं को बदल के आधुनिक सुविधा का प्रयोग होगा। राज्य सरकार ग्रामीण और आदिवासी बेल्ट में और अधिक नए अस्पताल खोलेगी। उदाहरण के लिए योजना के अनुसार भारत सरकार ने पेद्दापल्ली में 50 बिस्तरों की सुविधा वाला  अस्पताल है उसको 250 बिस्तरों की सुविधा वाले अस्पताल में  परिवर्तित किया जाएगा।
  • निजी नर्सिंग होम के बराबर बहुत कम कीमत पर चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करना योजना के महत्वपूर्ण विचारों में से एक होगा। यह निश्चित रूप से लाभार्थियों सरकारी और निजी अस्पतालों में प्रसव के लिए चुनाव करने में बढ़ावा देगा। अधिक अस्पतालों के बेड और एंबुलेंस योजना के तहत आवंटित की जाएंगी।
  • सभी नए जिलों में अस्पताल मुख्यालय का गठन कर रहे हैं सभी अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत स्थित अस्पतालों का काम प्रशासन पूरा करेगा और नियमित रूप से स्वास्थ्य विभाग को प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा।
  • अधिक जागरूकता कार्यक्रमों के द्वारा स्वास्थ्य अधिकारी राज्य भर में इस योजना को बढ़ावा देने और सरकारी लाभ उठाने के लिए आम जनता को प्रोत्साहित करेंगे । संस्थागत प्रसव के लिए अस्पताल की सुविधा दी जाएगी।
  • अधिक सख्त उपायों के साथ अवांछित सर्जरी और सीजेरियन प्रसव की जाँच निजी अस्पतालों में की जाएगी ।

सरकार अस्पतालों में संस्थागत प्रसव के लिए पुरस्कार मिलेगा।

एक प्रमोशनल ऑफर के साथ योजना का प्रचार और तेलंगाना सरकार संस्थागत प्रसव की संख्या बढ़ने के लिए प्रतिबद्ध है सरकार द्वारा आयोजित सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराया जा रहा  है। भारत सरकार अस्पतालों में लाभार्थियों के लिए कुछ प्रोत्साहन राशी की घोषणा करेगी। तमिलनाडु सरकार अपने राज्य के लोगों के लिए इसी तरह की योजना शुरू कर रही है। अस्पताल में प्रसव कराने वाले परिवार को 12 हजार रुपये तक का इनाम मिलेगा।

Leave a Reply