स्टैंड अप इंडिया योजना (हिंदी ) – (Standup India Scheme) | How to Apply | Detail | Benefits

स्टैंड अप इंडिया ऋण योजना-(Standup India Scheme) अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग, जनजातियों और महिला उद्यमियों के लिए भारत सरकार द्वारा एक नई पहल है। इस योजना को आधिकारिक तौर पर सेक्टर 62, नोएडा में 5 अप्रैल, 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया है। यह मूल रूप से देश के निचले वर्गों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए एक ऋण योजना है। स्टैंड अप इंडिया योजना अनुसूचित जाति / जनजाति और महिलाओं के बीच उद्यमशीलता और रोजगार को बढ़ावा देता है। ये उद्यम निर्माण, सेवाओं या व्यापार के क्षेत्र में हो सकता है।

स्टैंड अप इंडिया योजना का उद्देश्य:


स्टैंड अप इंडिया योजना का उद्देश्य कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति (एसटी) या कम से कम एक महिला उधारकर्ता को एक हराभरा उद्यम स्थापित करने के लिए बैंक की शाखा के अनुसार 10 लाख से 1 करोड़ के बीच बैंक से ऋण लेने की सुविधा । गैर-व्यक्तिगत उद्यमों में कम से कम 51% और शेयर के मामले में नियंत्रण हिस्सेदारी या तो एक अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी द्वारा आयोजित किया जाना चाहिए।

उद्यमियों को वित्तीय सहायता अपने व्यवसाय को स्थापित करने के लिए संचालन के लिए पैसे की वापसी या पूंजी के लिए उन्हें एक रुपे डेबिट कार्ड जारी किया जाएगा। योजना से देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ने में मदद मिलेगी और लोगों को अपने उद्यम स्थापित करने के लिए इन निधियों का उपयोग करके इसेसे लाभ उठा सकते हैं। उद्यमियों को स्टैंड अप इंडिया का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने होगा।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लाभ:


  • 10 लाख रूपये से 1 करोड़ ऋण लेने का लाभ
  • अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति और महिला उद्यमियों को ऋण का लाभ

आखिर क्या है स्टैंड अप इंडिया ?

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना से एक अनुसूचित जाति (SC)/अनुसूचित जनजाति (ST) या फिर एक महिला को बैंक से ऋण लेकर एक हराभरा उद्योग स्थापित करने के लिए 10 लाख से 1 करोड़ तक का लोन देने की सुविधा। कारोबार निर्माण ,सेवा या फिर व्यापर क्षेत्र से सम्बंधित होना चाहिए।  गैर- व्यक्तिगत कारोबार के मामले में एक अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति या महिला की कारोबार में 51% हिस्सेदारी होनी चाहिए।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना की विशेषताएं:-


  • स्टैंड अप इंडिया का उद्देश्य महिलाओं और अनुसूचित जाति /अनुसूचित जाति के उद्यमियों की सहायता करना है ।
  • लोगों को 5लाख का ऋण देकर समर्थन करना ।
  • उद्यम शुरू करने पर पहले तीन साल आयकर में छुट ।
  • आवेदन करने के लिए एक छोटा सा फार्म भरने पर लाइसेंस की प्रक्रिया जल्द स्वचालित हो जाएगी ।
  • एक फास्ट ट्रैक रोड मैप का गठन और एक समर्पित वेबसाइट और आवेदन विकसित किया जाएगा ।
  • शुरुआत करने के लिए 10 लाख से 1 करोड़ रूपये तक के ऋण की मंजूरी ।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लिए पात्रता मानदंड:


  • आवेदक एक अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमियों में से होना चाहिए ।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए ।
  • इस योजना के तहत ऋण केवल ग्रीन फील्ड परियोजना के लिए उपलब्ध है। इस संदर्भ में ग्रीनफील्ड का मतलब है की निर्माण या सेवाओं या व्यापार के क्षेत्र में लाभार्थी पहली बार कम कर रहा है।
  • गैर- व्यक्तिगत उद्यमों के मामले में हिस्सेदारी 51% और नियंत्रण हिस्सेदारी या तो अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और या महिला उद्यमी द्वारा आयोजित किया जाना चाहिए ।
  • आवेदक किसी भी बैंक / वित्तीय संस्था से डिफ़ॉल्टर नहीं होना चाहिए ।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:


  • पहचान का सबूत आधार कार्ड के रूप में
  • निवास का प्रमाण
  • व्यवसाय पते का सबूत
  • पैन कार्ड
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट आकार के फोटो
  • बैंक खाता विवरण
  • आस्तियों और देयताओं के प्रवर्तकों / जमानतदार के बयान
  • नवीनतम आयकर रिटर्न
  • रेंट एग्रीमेंट (यदि किराए पर व्यावसायिक परिसर)
  • यदि जरुरत है तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से क्लीयरेंस प्रमाण पत्र
  • परियोजना रिपोर्ट

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया:


  1. स्टैंड अप इंडिया ऋण योजना के लिए आवेदन तीन तरीकों से किया जा सकता है |
  • वेब पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन
  • सीधे बैंक शाखा में
  • अपनी अग्रणी जिला प्रबंधक के माध्यम से
  1. आवेदक ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से https://www.standupmitra.in/ वेब पोर्टल पर
  2. बस https://www.standupmitra.in/ पर जा कर किलिक करें
  3. एक बार क्लिक करें https://www.standupmitra.in/Login/Register कुछ छोटे प्रश्नों का जवाब देने के बाद आप को रजिस्टर कर दीया जाएगा ।
  4. एक बार सफलतापूर्वक पंजीकृत कर https://www.standupmitra.in/Login लॉग इन पर क्लिक करें |
  5. अब पोर्टल में प्रवेश के लिए यूज़रनेम और पासवर्ड भरें ।
  6. एक बार लॉग इन करने के बाद आवेदन फार्म भरने पर आवेदन सीधे लोन विभाग और आपके चुने हुए बैंक को भेज दिया जाएगा|

संपर्क विवरण:


  • ईमेल द्वारा अधिक जानकारी या किसी भी स्पष्टीकरण के लिए संपर्क करें support@standupmitra.in
  • help@standupmitra.in
  • राष्ट्रीय हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर: 18001801111

सन्दर्भ और विवरण:

5 comments

Leave a Reply