प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Hindi) – Pradhan Mantri Ujjwala Yojana Complete Detail

                         प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY)

                       प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना – आवेदन पत्र, पात्रता मानदंड, और अधिक आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना उत्तर प्रदेश में बलिया से 1 मई 2016 को शुरू की नरेंद्र मोदी सरकार की एक महत्वाकांक्षी सामाजिक कल्याण योजना है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सरकार का उद्देश्य देश में बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है। योजना अशुद्ध खाना पकाने के ईंधन की जगह ज्यादातर स्वच्छ और अधिक कुशल रसोई गैस (तरलीकृत पेट्रोलियम गैस) के साथ ग्रामीण भारत में इस्तेमाल के उद्देश्य से है।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उद्देश्य

उज्ज्वला योजना के तहत 5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को देश भर में गरीबी रेखा से नीचे के क्षेत्र में महिलाओं के नाम गैस उपलब्ध कराने के उद्देश्य से है। सरकार ने योजना के तहत 5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन का लक्ष्य देश भर में बीपीएल परिवारों को वितरित करने के लिए निर्धारित किया है। इस योजना के उद्देश्यों में से कुछ इस प्रकार हैं |

  1. महिलाओं को सशक्त बनाने और उनके स्वास्थ्य की रक्षा।
  2. जीवाश्म ईंधन पर आधारित खाना पकाने के साथ जुड़े गंभीर स्वास्थ्य के खतरों को कम करना।
  3. अशुद्ध खाना पकाने के ईंधन के कारण भारत में होने वाली मौतों की संख्या को कम करना।
  4. जीवाश्म ईंधन के जलने से घर के अंदर वायु प्रदूषण के कारण तीव्र श्वसन की वजह से बीमारियों का महत्वपूर्ण संख्या से युवा बच्चों की रोकथाम।

कैसे करें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन

बीपीएल परिवारों से पात्र महिला उम्मीदवारों को उज्ज्वला योजना में केवाईसी आवेदन पत्र भरके (निर्धारित प्रारूप में) इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इच्छुक उम्मीदवारों को 2 पेज के आवेदन फार्म को भरने और साथ में आवश्यक आवेदन संलग्न करने की आवश्यकता होती है। जैसे नाम, संपर्क विवरण, जन धन / बैंक खाता संख्या, आधार कार्ड नंबर आदि बुनियादी विवरण आवेदन पत्र में भरने के लिए आवश्यक हैं। आवेदकों को सिलेंडर का प्रकार अर्थात 14.2KG या 5 किलो की उनकी आवश्यकता का उल्लेख करने की जरूरत है।

उज्ज्वला योजना के लिए केवाईसी आवेदन पत्र भी ऑनलाइन डाउनलोड किया जा सकता है और आवश्यक दस्तावेजों के साथ निकटतम एलपीजी आउटलेट के लिए प्रस्तुत किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए पात्रता

पात्र बीपीएल परिवारों की पहचान SECC 2011 के आंकड़ों के आधार पर किया जाएगा। हालांकि नीचे इस योजना के लिए बुनियादी पात्रता मानदंड है।

  • आवेदक का नाम SECC 2011 के डेटा की सूची में होना चाहिए।
  • आवेदक 18 वर्ष की आयु से ऊपर एक महिला होनी चाहिए।
  • महिला आवेदक बीपीएल परिवार (गरीबी रेखा से नीचे) से संबंधित होनी चाहिए।
  • महिला का आवेदक देश भर में किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में बचत बैंक खाता होना चाहिए।
  • आवेदक के घर में पहले से ही किसी के नाम पर एक एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए।

उज्ज्वला योजना की विस्तृत पात्रता मानदंड यहाँ उपलब्ध है।

उज्ज्वला योजना बीपीएल उम्मीदवारों की सूची SECC 2011 के आंकड़ों में नाम की जाँच द्वारा सत्यापित किया जा सकता।

डाउनलोड करे हिंदी आवदन पत्र

डाउनलोड करे अंग्रेजी आवेदन पत्र 

उज्ज्वला योजना आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची

नीचे अनिवार्य दस्तावेजों की सूची से भरे हुए आवेदन पत्र के साथ संलग्न किया जाना है।

  1. बीपीएल प्रमाण पत्र पंचायत प्रधान / नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा अधिकृत
  2. बीपीएल राशन कार्ड
  3. एक फोटो आईडी (आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड)
  4. हाल ही में एक पासपोर्ट आकार का फोटो

उज्ज्वला योजना के आवेदन के लिए दस्तावेज, जो आवश्यकता के आधार पर संलग्न किया जा सकता की पूरी सूची देखें।

बजट और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का अनुदान

सरकार ने पहले ही वित्त वर्ष 2016-17 के लिए उज्ज्वला योजना कार्यान्वयन के लिए 2000 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। सरकार चालू वित्त वर्ष के भीतर लगभग 1.5 करोड़ बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन वितरित करेंगी।

रुपये के कुल बजटीय आवंटन 8000 करोड़ तीन वर्षों में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए सरकार द्वारा किया गया है। इस योजना के पैसे “Give-it-Up” अभियान के माध्यम से एलपीजी सब्सिडी से  बचाये पैसों का उपयोग कर लागू किया जाएगा।

वित्तीय सहायता

पात्र बीपीएल परिवारों को प्रत्येक एलपीजी कनेक्शन के लिए 1600 योजना रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान करता है। इस योजना के तहत कनेक्शन बीपीएल परिवारों की महिलाओं के नाम पर दिया जाएगा। सरकार ने स्टोव और फिर से भरना की लागत को पूरा करने के लिए ईएमआई की सुविधा प्रदान करेगा।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का कार्यान्वयन

योजना को पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा लागू किया जाएगा। यह इतिहास में पहली बार है कि मंत्रालय ने पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस की एक विशाल कल्याण योजना है जिससे सबसे गरीब परिवारों से संबंधित करोड़ों महिलाओं को लाभ होगा लागू कर रहा है। योजना को तीन साल में लागू किया जाएगा, अर्थात्, वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 और 2018-19

भारत में रसोई गैस वितरण की वर्तमान स्थिति

भारत अधिक से अधिक 24 करोड़ परिवार हैं जिसमें से लगभग 10 करोड़ परिवार अभी भी ईंधन के रूप में खाना पकाने के लिए रसोई गैस से वंचित हैं ।  केक आदि खाना पकाने के लिए प्राथमिक स्रोत के रूप में जलाऊ लकड़ी, कोयला, गोबर पर भरोसा करने के लिए निर्भर हैं।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के बारे में त्वरित विवरण

योजना गुण                            विवरण

योजना का नाम             प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

लॉन्च की तिथि             01 मई 2016

मुख्य उद्देश्य                 बीपीएल परिवारों की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन प्रदान

अन्य  उद्देश्य                अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के प्रयोग की वजह से  स्वास्थ्य को खतरों / रोगों और वायु प्रदूषण कम

लक्ष्य                         साल 2018-19 से 5 करोड़ बीपीएल परिवारों के बीच एलपीजी कनेक्शन का वितरण 3 वर्ष,

समय सीमा                  वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 और 2018-19

कुल बजट                    8000 करोड़

वित्तीय सहायता            1600 / – प्रति एलपीजी कनेक्शन

पात्रता                         बीपीएल उम्मीदवारों को जो SECC-2011 के आंकड़ों में उपलब्ध

 


डायल टोल फ्री नंबर : 1800 266 6696

Leave a Reply