प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना पश्चिम बंगाल | Pradhan Mantri Ujjwala Yojana West Bengal

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना पश्चिम बंगाल

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 14 अगस्त 2016 को पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की शुरुआत की जो नरेंद्र मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजना है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी सामाजिक कल्याण योजना है और जो पहली बार बलिया में शुरू की गई। 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश में इस योजना के तहत सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों (बीपीएल) को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन वितरित किया। इस योजना से बीपीएल परिवारों की महिलाओं के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा जिससे प्रदूषणकारी ईंधन के साथ खाना पकाने की कवायद कम हो गयी, इनडोर प्रदूषण को कम किया जा सका और राज्य में महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याओं का कम सामना करना पड़ रहा है। इस योजना में पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में बीपीएल महिलाओं के लिए लगभग 19.5 लाख एलपीजी कनेक्शन जारी किए हैं। भारत सरकार ने पूरे देश में 5 करोड़ बीपीएल परिवारों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन वितरित करने का लक्ष्य रखा है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य पूरे देश में महिलाओं को धूम्रपान रहित और स्वस्थ वातावरण प्रदान करना है। इस आधुनिक युग में आग जलाने वाली लकड़ी को जलाने से उत्सर्जित धुएं का धूम्रपान करके देश भर में कई महिलाएं अभी भी प्रतिकूल स्वास्थ्य प्रभाव का सामना कर रही हैं।

पश्चिम बंगाल में प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के लाभ

  1. पश्चिम बंगाल सरकार उन महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करती है जो गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल) परिवारों से संबंधित हैं।
  2. बीपीएल परिवारों की महिलाओं के लिए खाना पकाने के दौरान धूम्रपान रहित और स्वस्थ वातावरण का लाभ।

पश्चिम बंगाल में प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के लिए पात्रता

  1. आवेदक पश्चिम बंगाल का निवासी होना चाहिए।
  2. आवेदक महिला गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल)के परिवार की होनी चाहिए।

पश्चिम बंगाल में प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन कैसे करें

  1. आवेदक को पश्चिम बंगाल में क्षेत्रीय कलेक्टर कार्यालय में जाना होगा।
  2. आवेदक संबंधित तालुका / जिले में ग्राम पंचायत में भी जा सकता है।

संदर्भ और विवरण

  1. पश्चिम बंगाल में प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए

http://www.petroleum.nic.in/

Leave a Reply