पंडित दीन दयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना | pandit deen dayal upadhyay skill development scheme

पंडित दीन दयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना

पंडित दीन दयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना

पंडित दीन दयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना ,दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने पंडित दीन दयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना की शुरुआत की जो ग्रामीण युवाओं को मोबाइल टावर का रखरखाव, ऑप्टिकल फाइबर की मरम्मत और पूरे भारत में अन्य संचार प्रौद्योगिकियों को ठीक करने के लिए प्रशिक्षित करेगी।

सिन्हा ने इस योजना को लॉन्च करते हुए कहा की “हम 10 ग्रामीण स्थानों पर कौशल विकास कार्यक्रम शुरू करने जा रहे हैं और पहले चरण में 10,000 लोगों को एक बड़े तौर पर प्रशिक्षित करने वाले हैं। आने वाले दिनों में यह पूरे भारत में शुरू किया जाएगा,” ।

उन्होंने कहा कि भारतनेट के जरिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी में वृद्धि दिसंबर 2018 तक 60 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचेगी।

“वर्तमान में, हम ग्रामीण युवाओं को मोबाइल सिम बेचते और मोबाइल फोन की रिपेयरिंग करते देखते हैं … मुझे विश्वास है कि आने वाले दिनों में कंपनियों को मोबाइल टावर बनाए रखने के लिए कुशल श्रमिकों की आवश्यकता होगी, ऑप्टिकल फाइबर में मामूली गलतियों को सुधारना होगा।

सिन्हा ने कहा कि 10,000 लोगों को प्रशिक्षित करने के लिए लगभग 7 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। “उन्होंने कहा कि युवाओं को कौशल विकास और सही दिशा में आगे बढ़ाने में चुनौतियां का सामना करना पड़ रहा है, जो दूरसंचार मंत्रालय पंडित दीन दयाल उपाध्याय संचार कौशल विकास प्रतिष्ठान योजना की मदद से नियंत्रण में की जाएगी।

यह योजना यूपी, बिहार, ओडिशा, पंजाब और हरियाणा में शुरू की जाएगी।

सिन्हा ने कहा, “हम इस योजना को इस तरीके से विकसित करेंगे कि यह पूरे देश में अपनाई जाए”।

Leave a Reply