हरियाणा 50 गाय डेयरी योजना -डेयरी खोलने वालों के लिए ब्याज मुक्त ऋण

हरियाणा 50 गाय डेयरी योजना – हरियाणा राज्य सरकार ने हरियाणा 50 गाय डेयरी योजना के शुभारंभ के लिए लोगों को ब्याज-मुक्त ऋण प्रदान करने की योजना बनाई है। राज्य पशुपालन विभाग इस योजना को संचालित करेगा। इन डेयरी में, दूध निकालने से लेकर गोबर हटाने तक का काम सब कुछ मशीन-आधारित होगा ताकि गाएँ और जो लोग दूध और घी निकालते हैं, वे स्वस्थ भी रहें।

सरकारी योजनाओं के बारे में और अधिक जानें 

हरियाणा 50 गाय डेयरी योजना

गाय डेयरी योजना को शुरू करने के लिए, विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी.के. महापात्र ने सभी जिलों में पशुपालन विभाग के उप निदेशक से संपर्क करना शुरू कर दिया है। राज्य सरकार बड़े पैमाने पर काम कर रही है और किसानों की आय में वृद्धि कर रही है। सरकार का मानना है कि आय बढ़ाने के लिए, किसानों को अन्य प्रकार के विकल्पों पर ध्यान देना होगा।

पशुपालन विभाग के निदेशक ने कहा कि यदि यह योजना 100% कार्यान्वित होती है, तो डेयरी का कारोबार करके यहाँ एक करोड़पति बनने में समय नहीं लेगा। राज्य में दूध की कोई कमी नहीं होगी।

हरियाणा 50 गाय डेयरी योजना

हरियाणा 50 गायों डेयरी योजना के तहत, नाबार्ड ने गाय का मूल्य अनुमानतः 60 हजार रूपये लगाया है। डेयरी खोलने के लिए केवल एक व्यक्ति के लिए 30 लाख रुपये गायों के लिए मिलेंगे। इसके अलावा,किसान सरकार से बुनियादी ढांचे के लिए आवश्यक ऋण भी ले सकते हैं। आवेदक को इसके लिए परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी उसके बाद, बैंकों के साथ मिलकर दस्तावेज़ को पूरा करके आसानी से ऋण मिल सकता है।

सरकार इस राशि पर ब्याज का भुगतान करेगी। इस सुविधा को विभाग द्वारा पांच गायों तक का पालन करने वाले लोगों को प्रदान किया जा रहा है। इसके अलावा,जब आप पांच गायों को खरीदना चाहते हैं तो योजना के तहत आपको अपनी लागत का प्रमाण देने पर सुविधा प्रदान की जा रही है। जिसके तहत सरकार 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करेगी। किसान को 50 प्रतिशत विषम किस्तों का बैंक को भुगतान करना होगा। इन किस्तों का भुगतान किसान इन दुधारू गायों का दूध बेचकर कर सकता है।

राज्य सरकार किसानों और नागरिकों की आय बढ़ाने के लिए काम कर रही है। किसान इस योजना से बेहतर जीवन जी सकता है। जहां किसान मनी लॉन्ड्रिंग की समस्या से परेशान है। इसके अलावा, यह सुविधा पशु पालन विभाग द्वारा बड़े पैमाने पर किसानों को प्रदान की जा रही है।

 

 

One comment

Leave a Reply