सौभाग्य पोर्टल – ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया saubhagya.gov.in

सौभाग्य पोर्टल – हाल ही में, भारत सरकार ने पूरे देश में 24 घंटे बिजली की आपूर्ति प्रदान करने के लिए प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना शुरू की है। राज्य के लिए नई और नवीकरणीय घरेलू विद्युतीकरण प्रक्रिया की निगरानी के लिए ऊर्जा मंत्री श्री आर.के.सिंह ने सौभाग्य पोर्टल की शुरूआत की है। विद्युत स्थिति से संबंधित सभी सूचनाएं और विद्युतीकरण कार्यों की प्रगति इस पोर्टल के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है।

सरकारी योजनाओं के बारे में और अधिक पढ़ें 

इस पोर्टल के अलावा, सरकार ने स्मार्टफोन के लिए ‘सुविधा मोबाइल ऐप’ नामक एंड्रॉइड ऐप भी लॉन्च किया है। कोई भी स्मार्टफोन उपयोगकर्ता Google Play Store से इस ऐप को डाउनलोड कर सकता है। इस योजना के माध्यम से, सरकार का मुख्य उद्देश्य प्री-पेड या स्मार्ट मीटर के माध्यम से सभी नए बिजली कनेक्शनों के अनिवार्य मीटिंग की दिशा में आगे बढ़कर देश में पावर इकोसिस्टम में बदलाव लाया जा रहा है।

सौभाग्य पोर्टल के तहत ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया

सभी इच्छुक आवेदक जो इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए तैयार हैं, वे नीचे दिए गए सरल चरणों का अनुसरण करके खुद को इस पोर्टल पर पंजीकृत कर सकते हैं –
• सबसे पहले, आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ i.e. saubhagya.gov.in।
• “अतिथि” पर क्लिक करें
• इसके बाद, पूरी जानकारी के साथ पंजीकरण फॉर्म को ध्यान से भरें।
• रजिस्टर फॉर्म को भरने के बाद, ध्यान से सभी जानकारी को भरें और “जमा करें” पर क्लिक करें।
• इसके बाद आप पोर्टल में आसानी से लॉग इन कर सकते हैं।

सौभाग्य पोर्टल का विवरण saubhagya.gov.in

सौभाग्य पोर्टल से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी पढ़ें।
सौभाग्य पोर्टल में बिजली की सभी सटीक जानकारी होती है, जिसे आम जनता द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।

• इस पोर्टल पर पंजीकृत कोई भी नागरिक विद्युतीकरण कार्यों की प्रगति की वर्तमान स्थिति के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सकता है।
• उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, मिजोरम, नागालैंड, छत्तीसगढ़ और असम ने सुविधा मंत्रालय के तहत ऊर्जा मंत्रालय ने अपनी आवश्यकताओं को प्रस्तुत किया है।
• सभी राज्यों के गांव में शिविर कार्यक्रमों की घोषणा करने के लिए निर्देशित किया गया है और इसलिए बिजली कनेक्शन के लिए एक-स्टॉप सुविधा के बारे में लोगों के बारे में जागरूकता पैदा कर दी गई है।
• यह कदम पंजाब, हरियाणा आदि जैसे कृषि वर्चस्व वाले राज्यों में फसल के अवशेष को कम करेगा और इससे प्रदूषण भी कम हो जाएगा।
महत्वपूर्ण लिंक

सौभाग्य मोबाइल ऐप डाउनलोड करें || सौभाग्य वेब पोर्टल

Leave a Reply